LPG Subsidy New Rules : नयी एलपीजी सब्सिडी पॉलिसी जारी, जाने अब किसे मिलेगी सब्सिडी

LPG Subsidy New Rules : देश में बढ़ती महगाई के साथ, आम आदमी अब केंद्र सरकार से एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) सिलेंडर की खरीद पर सब्सिडी की पेशकस शुरू करने की उम्मीद क्र रहा है | केंद्र सरकार ने हाल ही पेट्रोल डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमश: 5 रूपये और 10 रूपये की कमी की है | यही वजा है की कई लोग उम्मीद कर रहे है की सरकार LPG सिलेंडर पर सब्सिडी की पेशकश फिर से शुरू कर सकती है |

LPG Subsidy New Rules

LPG Subsidy New Rules

LPG Subsidy New Rules

मोजूदा समय में रसोई एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) गैस सिलेंडर के दाम 1000 रूपये तक पहुंचने वाले है | सरकार के आंतरिक आकलन के मुतबिक उपभोक्त एक सिलेंडर के लिए 1000 रूपये देने को तैयार है | कई लोग उम्मीद कर रहे है | की सरकार LPG सिलेंडर पर सब्सिडी देना शुरू कर सकती है | केंद्र सरकार ने मई 2020 से डायरेक्ट एलपीजी सब्सिडी पर रोक लगा दी थी |

हलाकि, एक रिपोर्ट के मुतबिक केंद्र सरकार दो तरह से एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) सिलेंडर बेचने पर विचार कर रही है | एक तरीका यह होगा की सरकार बिना किसी सब्सिडी के एलपीजी सिलेंडरों की बिक्री जारी रखे | दूसरे, सरकार चुनिंदा ग्राहकों को रसोई गैस सिलेंडर की खरीद पर LPG सब्सिडी दे सकती है |

एलपीजी सब्सिडी के लिए कौन पात्र होगा (LPG Subsidy New Rules) ?

अभी तक, सरकार ने एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) सब्सिडी कोई विचार नहीं लिया है | हलाकि, रिपोर्ट बताती है की सरकार 10 लाख रूपये से काम वार्षिक आय वाले LPG ग्राहकों को सब्सिडी दे सकती है |

साथ ही उज्वला योजना के लाभाथी एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) खरीद पर सब्सिडी प्राप्त कर सकते है | उज्ज्वला योजना का उदेस्य गरीबी रेखा से निचे (बीपीएल) परिवारों की मुक्त LPG कनेक्शन प्रदान करना है | फ्लेगशिप योजना 1 मई 2016 से शुरू की गयी थी |

केंद्र सरकार ने मई 2020 से एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) गैस सिलेंडर पर ग्रहको को सीधे सब्सिडी देना बंद कर दिया था, ऐसे समय में जब COVID -19 महामारी के वजा से ईंधन की दरे गिर गयी थी | उस समय तेल और गैस की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में भरी गिरवाट आई थी | हलाकि सरकार सब्सिडी देना जारी रखे हुआ है | उदाहरण के लिए, वित्त वर्ष 2021 के दौरान एलपीजी सब्सिडी पर सरकार का खर्च 3,559 रूपये था | वित्त वर्ष 2020 में यह खर्च 24,468 करोड़ रूपये था |

इसे भी पढ़े :- पीएम किसान योजना के नियम अपडेट, जाने अब पति पत्नी कैसे लेंगे लाभ

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना अभी तक एक और कल्याङ्करी कार्यक्रम है जिसे भारत सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृव में शुरू किया था | इस एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) योजना के तहत, सरकार का लक्ष्य हमारे देश में गरीबी रेखा से निचे आने वाली महिलाओ को लगभग 50 मिलियन एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है | इस सब्सिडी योजना की कुछ मुख्य बाते इस प्रकार है :

और अधिक जानकारी के लिए यह क्लिक करे :- क्लिक करे 

  • यह योजना 1 मई 2016 को शुरू की गयी थी |
  • इस योजना को शुरू करने के लिए लगभग 8 हजार करोड़ रूपये का निवेश किया गया था, जिससे देश में कई लोगो को लाभ होगा |
  • इस योजना का उदेशय अशुद्दा खाना पकाने के ईंधन को बदलना है जिसका उपयोग ग्रामीण भारत में स्वच्छ और सस्ती एलपीजी (तरलीकृत पेट्रोलियम गैस) के साथ किया जाता है |

आज, भारत में एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) के लगभग 16.64 करोड़ सक्रिय उपभोकत है | प्रति वर्ष खपत के लिए लगभग 21 मिलियन टन एलपीजी की जरूरत होती है | इस मांग में मने वाले वर्षो में पर्याप्त विर्धि देखने की उम्मीद है | इस जरूरत के अनुरूप, सरकार ने देश में एलपीजी के समग्र बुनियादी ढांचे और वितरण में सुधार के लिए कई कदम उड़ाए है |

Give – Up LPG Subsidy

“गिव -अप एलपीजी सब्सिडी” भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किये गए लोकप्रिय अभियानों में से एक है | मार्च 2015 के महीने से शुरू किये गए इस सब्सिडी अभियान का उदेस्य देश भर में एलपीजी उपयोगकर्ताओ को एलपीजी सिलेंडर के बाजार मूल्य का भुकतान करने के लिए प्रेरित करना था यदि वो इसे वहन कर सकते है और अपनी एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas) सब्सिडी वापस सरकार को सौप दे ताकि गरीबी से निचे के लोग लाइन उस तक पहुंच प्राप्त कर सकते है |

Leave a Comment